Didarganj Yakshini

अतीत के झरोखे से : 1

‘बोल बिहार’ में ‘बोल अतीत’ के अन्तर्गत पिछली बार हमने पटना संग्रहालय से आपको रू-ब-रू कराया था। अब इसके भीतर की सैर के लिए...
The Revolt of 1857

1857 के इतिहास में जुडेगा नया अध्याय

1857 के इतिहास में तिरहुत के 28 शहीदों का नया अध्याय जुड़ेगा। जी हाँ, इतिहास में अब तक पढ़ाए जाने वाले पाठों को नये...
Sapt Matrika

अतीत के झरोखे से : 2

हमारे यहाँ मां दुर्गा यानि ‘शक्ति’ के नौ रूप माने गए हैं लेकिन कभी आपने सोचा कि मंदिरों में ‘शक्ति’ के प्रतीक रूप में...
chanakya

मौर्य साम्राज्य के संस्थापक अब ‘गुफा’ को रोते हैं!

चाणक्य, जिन्होंने भारतवर्ष को पहला सम्राट दिया, जिनसे ‘अर्थशास्त्र’ को अर्थ मिला और निर्विवाद रूप से जिनका नाम कूटनीति का पर्याय है, आज खुद...
manakula-vinayagar-temple

गणेशजी विहार करते हैं यहाँ

पुडुचेरी स्थित मनाकुला विनायगर मंदिर। गणपति के इस अद्भुत मंदिर का इतिहास पुडुचेरी में फ्रांसीसियों के आगमन यानि 1666 से भी पहले का है।...
Chandraswami

चंद्रास्वामी: नामी चेहरों का बदनाम चेहरा

तांत्रिक, ज्योतिष, आध्यात्मिक गुरु, गॉडमैन या राजनेताओं और उद्योगपतियों के दलाल – क्या थे चंद्रास्वामी? 1990 के दशक में खासा चर्चित यह चेहरा जितना...
Kishore Kumar

कुछ भी कर सकते थे किशोर कुमार

एक लड़की भीगी-भागी सी, गाता रहे मेरा दिल, मेरे सामने वाली वाली खिड़की, मेरे सपनों की रानी, रूप तेरा मस्ताना, पल-पल दिल के पास,...
Amitabh Bachchan-Vinod Khanna

‘विनोद जैसा कोई नहीं’

48 साल पुरानी दोस्ती, एक-दूसरे के साथ बिताए अनगिनत लम्हो का स्पर्श, ‘रेशमा और शेरा’, ‘मुकद्दर का सिकंदर’, ‘परवरिश’, ‘खून-पसीना’, ‘हेराफेरी’ ‘जमीर’ और ‘अमर...
Lord Krishna & Lord Surya

श्रीकृष्ण की प्रेरणा से शुरू हुई सूर्य को अर्घ्य देने की परिपाटी

आस्था का महापर्व है छठ। इस छठ से न जाने कितनी ही कथाएं जुड़ी हुई हैं। सच तो यह है कि कोई पर्व ‘महापर्व’...
Sajjad Hussain

सज्जाद हुसैन: कठिन पर जरूरी फनकार

महान संगीतकार सज्जाद हुसैन साहब का जन्म-शताब्दी वर्ष (15 जून 1917 - 21 जुलाई 1995) शुरू हो गया है। एक ऐसे समय में, जब...