Bol Cinema

Arvind Kejriwal

‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’: एक जरूरी दस्तावेज

एक ऐतिहासिक आंदोलन से निकले एक अलहदा लीडर की कहानी कहती है ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’। फिल्म को देखने के बाद आपको शिद्दत से इस...
V Shantaram

जरूरी है वी. शांताराम को जानना

चार्ली चैप्लिन जब अपनी पसंदीदा फिल्म का जिक्र करते थे, तो उनका नाम लेते थे। शाहरुख खान ने अगर बेटे आर्यन को खासतौर पर...
Film Ittefaq

‘इत्तेफाक’ की वापसी

बीआर चोपड़ा के पोते अभय चोपड़ा ‘इत्तेफाक’ के जरिए निर्देशक के तौर पर डेब्यू कर रहे हैं। यह फिल्म एक थ्रिलर मर्डर मिस्ट्री है,...
Amitabh Bachchan

अमिताभ, जिनके लिए 75 एक संख्या भर है

अमिताभ को समझने के लिए हमें कुछ पीछे जाना होगा। उनकी जिंदगी की उन महत्वपूर्ण घटनाओं व परिस्थितियों को टटोलना होगा, जिनकी वजह से...
Rajkumar Rao in Film Newton

नई संभावनाओं की खोज: ‘न्यूटन’

एक दौर था जब कमर्शियल फिल्मों के साथ-साथ समानांतर सिनेमा का भी अपना दर्शक वर्ग था। श्याम बेनेगल, गोविंद निहलानी, प्रकाश झा जैसे समर्थ...
Film Lucknow Central

रिश्तों और सपनों को खंगालती ‘लखनऊ सेंट्रल’

‘रॉक ऑन 2’ के बाद फरहान अख्तर दर्शकों के बीच ‘लखनऊ सेंट्रल’ को लेकर आ रहे हैं। इस फिल्म में दिखाया गया है कि...
Baadshaho-Shubh Mangal Saavdhan

जब मिल गए दर्शकों के दोनों छोर

पिछले हफ्ते रिलीज हुई ‘शुभ मंगल सावधान’ और ‘बादशाहो’ के कलेक्शन पर गौर करने के साथ देश के दर्शकों के दो छोरों को भी...
Toilet Ek Prem Katha-Bareilly Ki Barfi

हिन्दी सिनेमा के नए पड़ाव पर ले जातीं दो फिल्में

‘टॉयलेट: एक प्रेमकथा’ और ‘बरेली की बर्फी’ – लगभग साथ-साथ आईं ये दोनों फिल्में हवा के ताजा झोंके की तरह हैं। संयोग है कि...
Alia Bhatt-Shahid Kapoor

आईफा के दंगल में ‘दंगल’ ही नहीं!

2016 में बनी हिन्दी फिल्मों को पुरस्कृत करने का कोई समारोह हो और पुरस्कार की किसी भी कैटेगरी में ‘दंगल’, ‘सुल्तान’, ‘रुस्तम’, ‘एयरलिफ्ट’ और...
Film Mom

क्यों देखें ‘मॉम’?

महज 4 साल की उम्र में कैमरे के सामने आने वाली श्रीदेवी अपने करियर के 50वें साल में ‘मॉम’ बनकर आई हैं। ‘इंग्लिश विंग्लिश’...