दहेज लिया तो जाएगी सरकारी नौकरी

0
252
Nitish Kumar
Nitish Kumar

शराबबंदी कानून को लागू कर सुर्खियों में आए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अब राज्य में दहेज प्रथा के खिलाफ भी हल्ला बोल दिया है। कुछ समय पहले उन्होंने बिहार के लोगों से दहेज और बाल विवाह के खिलाफ जंग छेड़ने को कहा था। अब बिहार सरकार दहेज और बाल विवाह पर पाबंदी के कानून को कड़ाई से लागू करने जा रही है। इसी के तहत अब यहां सरकारी नौकरी के लिए चुने गए युवकों को दहेज लेने पर नौकरी से तुरंत बर्खास्त कर दिया जाएगा।

हालांकि बिहार सरकार की सेवा में जगह पाने वाले सभी कर्मियों को पहले से ही यह शपथ पत्र देना होता है कि वे दहेज मुक्त शादी करेंगे। लेकिन अब तक इस नियम को सख्ती से लागू नहीं कराया जा रहा था। नीतीश सरकार ने इसे प्राथमिकता में शामिल करते हुए इन मामलों में शिकायत मिलने पर नौकरी से बर्खास्त करने का फैसला लिया है।

दहेजबंदी और बाल विवाह निषेध को लेकर नोडल एजेंसी महिला विकास निगम द्वारा इस संबंध में सभी विभागों और जिला प्रशासन को पत्र लिखकर निर्देश दिया जाएगा कि वे सरकारी सेवा में आने वाले कर्मियों से शपथ पत्र लेने के साथ इस पर सख्त नजर भी रखें। अगर किसी सरकारी कर्मचारी के खिलाफ कोई शिकायत मिलती है, तो उस पर तुरंत कार्रवाई करें। समाज कल्याण विभाग के मुताबिक सभी तरह के सरकारी कर्मियों पर यह नियम लागू होगा।

दहेजबंदी और बाल विवाह निषेध को लेकर अन्य तरह के प्रावधान भी लागू किए जाएंगे। इनमें विवाह भवन द्वारा विवाह पूर्व दहेज नहीं लेने और देने तथा बाल विवाह नहीं करने संबंधी शपथ पत्र लिया जाना शामिल है। अगर कोई पंडित या मौलवी या धर्मगुरु बाल विवाह कराएंगे, तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

शराबबंदी के बाद नीतीश कुमार ने समाज सुधार की दिशा में बाल विवाह और दहेज के खिलाफ मुहिम के रूप में दूसरा बड़ा कदम उठाया है। उन्होंने 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन आह्वान किया था कि लोग आज के बाद से दहेज ले-देकर होने वाली शादियों का बहिष्कार करें और उसमें शामिल न हों। मुख्यमंत्री ने लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से नए साल में 21 जनवरी को दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ मानव श्रृंखला बनाने की भी अपील की है।

बोल डेस्क

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here