चीन की तरह रूस को साध पाएगा पाक!

0
2
Khawaja Muhammad Asif
Khawaja Muhammad Asif

कूटनीतिक तौर पर अलग-थलग पड़ जाने और अमेरिका की नई अफगान नीति सामने आने के बाद पाकिस्तान ‘डैमेज कंट्रोल’ में जुट गया है। अब उसकी कोशिश है कि चीन के साथ ही रूस से भी रिश्ते मजबूत किए जाएं। पाकिस्तानी विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ अगले सप्ताह चीन, रूस और तुर्की की यात्रा पर जाने वाले हैं, जिस दौरान वे भारत और अमेरिका के मजबूत होते गठजोड़ की काट तलाशने की भरपूर कोशिश करेंगे।

जानना दिलचस्प होगा कि इससे पहले आसिफ के अमेरिकी दौरे का कार्यक्रम था, जहां उन्हें अमेरिकी समकक्ष रेक्स टिलरसन के साथ रिश्तों में फिर से गर्मजोशी पैदा करने के तरीकों पर बात करनी थी। लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगान नीति घोषित कर पाकिस्तान को लेकर कड़ी टिप्पणियां क्या कीं, आसिफ ने अपना रास्ता ही बदल लिया।

‘डॉन’ अखबार के मुताबिक पाकिस्तानी विदेश मंत्री की यात्रा का फैसला गुरुवार को हुई राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया था। यह बैठक पाकिस्तान को लेकर बदली अमेरिकी नीति पर चर्चा के लिए बुलाई गई थी। बदली परिस्थितियों में इसी बैठक के बाद पाकिस्तान रूस को साधने में जुट रहा है। लेकिन सच यह है कि यहां भी उसके हाथ कुछ आने वाला नहीं। कूटनीति के जानकारों का स्पष्ट मानना है कि रूस भारत को नाराज करके पाकिस्तान से रिश्ते बेहतर करने का जोखिम किसी सूरत में नहीं उठा सकता। पाकिस्तान के पास अब सुधरने या हाथ मलने के अलावे कोई विकल्प नहीं।

बोल डेस्क

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here