गोपालकृष्ण गांधी पर विपक्ष का दांव

0
39
Gopalkrishna Gandhi
Gopalkrishna Gandhi

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पोते और पूर्व राजनयिक गोपालकृष्ण गांधी 18 विपक्षी दलों की तरफ से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार होंगे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुआई में संसद भवन लाइब्रेरी बिल्डिंग में हुई विपक्षी पार्टियों की बैठक में कई नामों पर चर्चा के बाद सर्वसम्मति से गोपालकृष्ण गांधी को उपराष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार बनाने का फैसला किया गया। इस बैठक में जेडीयू की तरफ से वरिष्ठ नेता शरद यादव शामिल हुए। राष्ट्रपति पद के चुनाव में जेडीयू ने एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोंविद का समर्थन किया है।

विपक्षी दलों ने इस बार सरकार की तरफ से उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित करने और सहमति बनाने के प्रयास का इंतजार नहीं किया। राष्ट्रपति पद के चुनाव में विपक्ष ने अपना उम्मीदवार घोषित करने से पहले सरकार की तरफ से उम्मीदवार की घोषणा का इंतजार किया था। इस बीच एनडीए की तरफ से रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद जेडीयू ने विपक्षी उम्मीदवार का इंतजार किए बगैर समर्थन दे दिया था। कई विपक्षी दलों ने कांग्रेस की आलोचना भी की थी कि उसने राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार घोषित करने में देरी की।

बता दें कि गोपालकृष्ण गांधी को सीपीएम सहित कई विपक्षी दल राष्ट्रपति पद के चुनाव में उम्मीदवार बनाने की वकालत कर रहे थे। लेफ्ट ने विपक्षी दलों की बैठक में गोपालकृष्ण गांधी के नाम का सुझाव रखा था। पर एनडीए की तरफ से रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाने के बाद विपक्ष ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को प्रत्याशी बनाने का फैसला किया। विपक्ष को उम्मीद है कि बीजेडी व आप सहित दूसरे विपक्षी दल भी गोपालकृष्ण गांधी का समर्थन करेंगे।

उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष का चेहरा तय करने को हुई बैठक में जिन 18 पार्टियों ने शिरकत की, उनमें कांग्रेस, जेडीयू, आरजेडी, टीएमसी, सपा, बसपा, एनसीपी, नेशनल कांफ्रेस, जेडीएस, आरएलडी, सीपीएम, सीपीआई, डीएमके, मुसलिम लीग, जेएमएम, आरएसपी, केरल कांग्रेस और एआईयूडीएफ शामिल थी। उपराष्ट्रपति पद का चुनाव पांच अगस्त को होना है।

बोल डेस्क

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here