‘समागम’ का सही अर्थ समझा गए नीतीश

0
23
Nitish Kumar in Kisan Samagam
Nitish Kumar in Kisan Samagam

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजधानी पटना के गांधी मैदान स्थित ज्ञान भवन के अशोक कन्वेंशन सेंटर में किसान समागम का उद्घाटन किया। इस समागम का आयोजन कृषि विभाग ने राज्य के लिए तीसरा कृषि रोड मैप 2017-2022 तैयार करने के लिए किया था। बता दें कि पहला कृषि रोड मैप 2008-2012 और दूसरा कृषि रोड मैप 2012-2017 के लिए तैयार किया गया था।

शुक्रवार से शुरू हुए इस किसान समागम में राज्य के सभी जिलों से आए कृषि से संबंधित 534, पशुपालन से 75, मत्स्य से 25, वन व पर्यावरण से 25, सहकारिता से 25 एवं गन्ना से 15 किसानों द्वारा दिए गए सुझावों पर तीसरा कृषि रोड मैप तैयार किया जाएगा। रोड मैप तैयार कर लिए जाने के बाद बिहार में बीज हब की स्थापना की जाएगी ताकि किसानों को बीजों की समस्या से निजात मिल सके और राज्य में अबाध गति से कृषि का विकास हो।

इस मौके पर अपने सवा घंटे से अधिक के संबोधन में किसानों की चिन्ता से स्वयं को जोड़ते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नए कृषि रोड मैप में सरकार किसानों के लिए इनपुट सब्सिडी की व्यवस्था करेगी। किसानों की सूची बनेगी। जमीन के अनुरूप खेती के पहले ही सरकार किसानों को अनुदान देगी। किसानों की आर्थिक मजबूती के लिए जो कुछ बन पड़ेगा, वह किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसान शब्द को व्यापक रूप में लेना चाहिए। इसमें सिर्फ जमीन मालिक ही नहीं, बल्कि खेत में काम करने वाले मजदूरों के हितों और उनके कल्याण के लिए भी सोचना होगा।

किसान समागम का खास आकर्षण रहा दोपहर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का करीब 1400 किसानों के साथ जमीन पर बैठकर खाना नीतीश ने कृषि विभाग को इसकी व्यवस्था करने का विशेष निर्देश दिया था। कहना गलत न होगा कि वे ‘समागम’ का सही अर्थ समझाने में सफल रहे। राज्य भर से आए किसानों पर इसका सकारात्मक असर तुरत देखने को मिला। नीतीश के इस कदम से उत्साहित जमुई के एक किसान ने कहा कि एक तरफ सरकारें किसानों पर गोलियां चलवा रही हैं और दूसरी ओर नीतीश किसानों के बीच बैठकर भोजन कर रहे हैं।

इस कार्यक्रम में जुटे किसानों ने खुलकर अपनी बातें कहीं और मुख्यमंत्री उन्हें डूब कर सुनते रहे। अच्छी बात यह कि उन्होंने कृषि योजनाओं की खूबियों और खामियों दोनों को समभाव से सुना। किसानों ने जहां खूबियों को रेखांकित किया, वहीं कमियों की ओर भी इशारा किया। माहौल एकदम दोस्ताना था। यहां तक कि मुख्यमंत्री ने किसानों के साथ हंसी-ठिठोली भी की। मुख्यमंत्री के साथ इस कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, मंत्री जय कुमार सिंह, आलोक मेहता और अवधेश सिंह तथा तमाम आला अधिकारी मौजूद रहे।

बोल बिहार के लिए डॉ. ए. दीप

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here