70 के लालू

0
21
Lalu Prasad Yadav
Lalu Prasad Yadav

70 वर्ष के हो गए आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव। एक के बाद एक नए आरोप, चारा घोटाला मामले में फिर पेशी का दौर, विवादों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा… पर धूमधाम में कमी नहीं। एक दिन पहले से आवास और कार्यालय पर समर्थकों का जमावड़ा, तरह-तरह के फूलों की सजावट, बधाई वाले पोस्टर से पटे पटना के चौक-चौराहे और 70 पाउंड का केक… और क्या चाहिए। चाहे रिक्शा पर बैठकर जेल जाना हो या हाथी पर बैठकर बाहर आना – विपरीत परिस्थितियों में भी अपने लिए आकर्षण पैदा कर लेने में लालू बेजोड़ रहे हैं। आज तो खैर उनका जन्मदिन ही है – उनके परिवार, उनकी पार्टी के लिए बेहद खास दिन। और कई मायनों में वर्तमान सरकार और सम्पूर्ण बिहार के लिए भी।

रात 12 बजते ही मीसा की बेटी, तेजस्वी, राबड़ी और परिवार के बाकी सदस्यों ने सोते लालू को केक काटने के लिए जगाया। रविवार सुबह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 70 गुलाब का गलदस्ता लिए लालू को बधाई देने उनके आवास पहुंचे। कहा, लालूजी ने अपना जीवन जनता की सेवा में लगा दिया है। छात्र जीवन से अब तक इन्होंने जो योगदान दिया है, वह अहमियत रखता है। साथ में ये भी कि मैं और लालू मिलकर बिहार का विकास कर रहे हैं। उधर तेजस्वी ने सोशल मीडिया पर अपने पिता के जन्मदिन का फोटो शेयर किया और लिखा “शेरदिल, न्याय के लिए लड़ने वाले, समाजवाद के गुरु, गरीबों के मसीहा लालू प्रसाद यादव जी को जन्मदिन की मुबारकबाद। आप पर गर्व है डैड।”

लालू के जन्मदिन को और खास बनाने के लिए आज ही के दिन नीतीश-तेजस्वी ने बिहार को दो मेगा पुल उपहार में दिए। ये दो पुल हैं – पटना (दीघा) से सोनपुर (पहलेजा) को जोड़ने वाला जेपी पुल और आरा से छपरा को जोड़ने वाला वीर कुंवर सिंह पुल। इन दोनों पुलों के उद्घाटन के मौके पर मुख्यमंत्री-उपमुख्यमंत्री के अलावे लालू प्रसाद यादव भी मौजूद थे। गौरतलब है कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ही पथ निर्माण विभाग के भी मंत्री हैं और इन दोनों पुलों के उद्घाटन के लिए पिता के जन्मदिन को चुनना निश्चित तौर पर अकारण नहीं था। भाजपा ने इस पर हो-हल्ला भी मचाया था।

बहरहाल, तमाम विरोधाभासों के बावजूद लालू बड़े नेता हैं, इसमें कोई दो राय नहीं। बिहार ही नहीं देश की राजनीति में भी जब-जब सामाजिक न्याय की बात होगी, उनके बिना पूरी नहीं होगी। राजनीति की अपनी अनूठी शैली और गंवई पुट लिए भाव-भंगिमा से उन्होंने लाखों लोगों पर जो छाप छोड़ी है, वो आसानी से मिटने वाली नहीं। ‘बोल बिहार’ की ओर से उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं।

बोल बिहार के लिए डॉ. ए. दीप

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here