अक्षय निकले छुपा ‘रुस्तम’, जीता राष्ट्रीय पुरस्कार

0
40
Akshay Kumar in Film Rustom
Akshay Kumar in Film Rustom

शुक्रवार को 64वें राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कारों की घोषणा हो गई। इन पुरस्कारों में ‘दंगल’ के लिए आमिर खान और ‘पिंक’ के लिए अमिताभ बच्चन की दावेदारी पर तरजीह देते हुए ‘रुस्तम’ के लिए अक्षय कुमार को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता चुना गया। वहीं मलयालम फिल्म ‘मिन्नामिनुंगे’ के लिए सुरभि लक्ष्मी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री चुना गया। मराठी फिल्म ‘कासव’ साल की सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म मानी गई, जबकि तेलगु फिल्म ‘साथमनम भवति’ को सर्वाधिक लोकप्रिय फिल्म और नागेश कुकुनूर की फिल्म ‘धनक’ को सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्म चुना गया।

अपनी जान देकर एयर इंडिया के यात्रियों की ज़िन्दगी बचाने वाली एयर होस्टेस नीरजा के जीवन पर बनी फिल्म ‘नीरजा’ सर्वश्रेष्ठ हिन्दी फिल्म मानी गई और इसी फिल्म में अपने अभिनय की खास छाप छोड़ने के लिए सोनम कपूर को विशेष उल्लेख सम्मान दिया गया। पिछले साल काफी तारीफें बटोरने वाली अमिताभ बच्‍चन-तापसी पन्‍नू अभिनीत फिल्‍म ‘पिंक’ को सामाजिक विषयों पर बनी सर्वेश्रेष्‍ठ फिल्‍म माना गया। वहीं ‘द टाइगर हू क्रॉस्‍ड द लाइन’ ने सर्वश्रेष्‍ठ पर्यावरण फिल्‍म का पुरस्कार जीता। अजय देवगन की फिल्म ‘शिवाय’ को सर्वश्रेष्ठ स्पेशल इफेक्ट का पुरस्कार मिला।

आमिर खान की चर्चित फिल्म ‘दंगल’ में अपनी अदाकारी से सुर्खियों में आईं अभिनेत्री जायरा नसीम ने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का पुरस्कार जीता। वहीं मराठी फिल्म ‘दशक्रिया’ के लिए मनोज जोशी को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार मिला। निर्देशन की बात करें तो प्रियंका चोपड़ा के प्रोडक्शन हाउस में बनी मराठी फिल्म ‘वेंटिलेटर’ के लिए राजेश मापुसकर को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक चुना गया।

क्षेत्रीय भाषाओं की फिल्मों में ‘बिसर्जन’ को सर्वश्रेष्ठ बंगला फिल्म, ‘राँग साइड राजू’ को सर्वश्रेष्ठ गुजराती फिल्म, ‘रिजर्वेशन’ को सर्वश्रेष्ठ कन्नड़ फिल्म, ‘महेशिंते पराथिकारम’ को सर्वश्रेष्ठ मलयालम फिल्म, ‘जोकर’ को सर्वश्रेष्ठ तमिल फिल्म, ‘दशक्रिया’ को सर्वश्रेष्ठ मराठी फिल्म और ‘पेल्ली चोपुलु’ को सर्वश्रेष्ठ तेलगु फिल्म चुना गया।

सर्वश्रेष्ठ गायक-गायिका का राष्ट्रीय पुरस्कार क्रमश: सुंदर अय्यैर और ईमान चक्रवर्ती को मिला। जबकि बापू पद्मनाभ ने सर्वश्रेष्ठ संगीतकार और वैरामुथु ने सर्वश्रेष्ठ गीतकार का पुरस्कार जीता। तकनीकी पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ संपादन के लिए रामेश्वर एस भगत और सर्वश्रेष्ठ सिनेमेटोग्राफी के लिए तिरु को चुना गया। उत्‍तर प्रदेश ने ‘मोस्‍ट फिल्‍म फ्रेंडली स्‍टेट’ का पुरस्कार जीता और झारखंड को इसी श्रेणी में स्‍पेशल मेंशन पुरस्‍कार मिला।

चलते-चलते बता दें कि फीचर फिल्म वर्ग के लिए गठित निर्णायक मंडल के अध्यक्ष मशहूर फिल्मकार प्रियदर्शन और गैर फीचर फिल्मों की जूरी के अध्यक्ष जाने-माने सिनेमेटोग्राफर व लेखक राजू मिश्रा थे। ये सारे पुरस्कार तीन मई को दिल्ली में आयोजित समारोह में राष्ट्रपति के हाथों दिए जाएंगे।

बोल बिहार के लिए रूपम भारती

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here