पप्पू की गिरफ्तारी पर राजभवन में ‘जाप’

0
44
Pappu Yadav
Pappu Yadav

जन अधिकार पार्टी (जाप) के संरक्षक और मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी ‘संसदीय परंपरा की अवमानना’ और ‘राजनीतिक दबाव में की गई कार्रवाई’ है, ये कहना है पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मंत्री भगवान सिंह कुशवाहा और पप्पू यादव के पिता चंद्र नारायण प्रसाद के नेतृत्व में राजभवन गए प्रतिनिधिमंडल का। पप्पू की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे इस प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर अपनी पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा और महामहिम से सारी कानूनी प्रक्रियाओं को ताक पर रख पप्पू यादव की गिरफ्तारी और शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे पार्टी के कार्यकर्ताओं पर की गई पुलिस की तथाकथित ज्यादती की न्यायिक जांच करवा कर इंसाफ दिलाने की मांग की।

गौरतलब है कि बिहार में बिजली दरों में बढ़ोतरी के खिलाफ और बिहार कर्मचारी चयन आयोग परीक्षा में प्रश्नपत्र लीक मामले की जांच सीबीआई से कराने सहित कई मांगों को लेकर राजधानी पटना में प्रदर्शन के दौरान सोमवार को जाप के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी, जिसमें कई लोग घायल हो गए थे। कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज का सहारा लिया था। इसी घटना के बाद सोमवार को ही देर रात पुलिस ने पप्पू यादव को गिरफ्तार कर लिया था।

बहरहाल, जाप द्वारा राज्यपाल को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि सांसद की गिरफ्तारी संसदीय परम्परा की अवमानना है। पार्टी के मुताबिक सांसद को जिस मुकदमे में ‘फंसाया’ गया, वह जनवरी 2017 के राजभवन मार्च का है। इस मामले में रात के अंधेरे में ‘झूठा’ मुकदमा कर न सिर्फ न्यायालय को गुमराह करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया गया, बल्कि सर्वोच्च न्यायालय के उस आदेश की भी अवमानना की गई, जिसमें उल्लेख है कि रात के अंधेरे में पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं करेगी। जाप के प्रदेश अध्यक्ष भगवान सिंह कुशवाहा के अनुसार राज्यपाल ने प्रतिनिधिमंडल की मांगों को ध्यानपूर्वक सुना और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

चलते-चलते बता दें कि पप्पू यादव की पत्नी व सुपौल की सांसद रंजीत रंजन ने मंगलवार को लोकसभा में भी उनकी गिरफ्तारी का मामला उठाया था और इसे सांसद के सदन में भाग लेने के विशेषाधिकार के अतिक्रमण और राजनीतिक दबाव में पटना जिला प्रशासन की कार्रवाई बताया था।

बोल डेस्क

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here