सात मुस्लिम देशों पर ट्रंप की पाबंदी

0
15
Donald Trump
Donald Trump

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया समेत सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के देश में घुसने पर रोक लगा दी है। इन देशों में सूडान, इराक, ईरान, सोमालिया, यमन और लीबिया शामिल हैं। ट्रंप की ओर से जारी आदेश के बाद सीरियाई शरणार्थियों के अमेरिका आने पर अनिश्चित काल के लिए रोक लग गई है, जबकि अन्य छह देशों के शरणार्थियों पर 120 दिनों तक रोक रहेगी। बता दें कि इन देशों के सामान्य नागरिकों को भी 90 दिनों तक अमेरिकी वीजा नहीं मिलेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने आदेश जारी करने के बाद कहा कि इसका मकसद मुस्लिम चरमपंथियों को अमेरिका में घुसने से रोकना है। ट्रंप का स्पष्ट कहना है कि हम नहीं चाहते कि वे लोग हमारे देश में प्रवेश कर सकें, जिनसे हमारी सेना पहले से लड़ रही है। उल्लेखनीय है कि इस आदेश के मुताबिक प्रतिबंधित देशों की सूची में आगे चलकर अन्य देशों को भी शामिल किया जा सकता है। जानकारों के मुताबिक अमेरिका ने फिलहाल कूटनीतिक वजहों से पाकिस्तान, सऊदी अरब और अफगानिस्तान को इस सूची में शामिल नहीं किया है।

बहरहाल, ट्रंप के इस फैसले का अमेरिका समेत दुनियाभर में विरोध हो रहा है। अमेरिका की विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी ने जहाँ इसे अमेरिकी सिद्धांतों के खिलाफ बताया है, वहीं यूएन ने अमेरिका से मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के लिए दरवाजे बंद नहीं करने की अपील की है। उधर गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने पाबंदी के इस फैसले को प्रतिभाओं की राह में रोड़ा बताया है। फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग और नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने भी इसकी कड़ी निंदा की है।

कहना मुश्किल है कि ट्रंप अपने इस फैसले को वापस लेंगे या नहीं। लेकिन ये हम जरूर कह सकते हैं कि शासन संभालते ही ट्रंप ने अपने रंग दिखाने शुरू कर दिए हैं। अगर ये सिलसिला यूं ही चलता रहे तो अमेरिका को ‘बदरंग’ होते ज्यादा देर न  लगेगी!

बोल डेस्क

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here