18 मैचों से अजेय ‘विराट’ सेना

0
114
virat-and-team-after-winning-chennai-test
virat-and-team-after-winning-chennai-test

विजय-रथ पर सवार भारत ने इंग्लैंड को चेन्नई टेस्ट में एक पारी और 75 रन से हराकर 5 मैचों की टेस्ट सीरीज 4-0 से अपने नाम कर ली। इस मैच में तिहरा शतक जड़ने वाले करुण नायर को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया, वहीं सीरीज में 655 रन बनाने वाले कप्तान विराट कोहली ‘मैन ऑफ द सीरीज’ घोषित किए गए।

भारत ने मंगलवार को इंग्लैंड की दूसरी पारी को महज 207 रनों पर समेट दिया। भारत की ओर से इस पारी में रवीन्द्र जडेजा ने 7 विकेट लिए। चेन्नई टेस्ट में जडेजा के नाम कुल 10 विकेट रहे। इससे पहले इस मैच में भारत ने अपनी पहली पारी 7 विकेट पर 759 रन बनाकर घोषित की थी। इस पारी में करुण नायर ने नॉट आउट 303 रन बनाए, वहीं एक रन से दोहरा शतक चूक गए ओपनर केएल राहुल ने 199 रन बनाकर भारत की मजबूत बुनियाद रखी।

इस मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली टेस्ट मैचों में अजेय रहने के मामले में पूर्व कप्तान कपिल देव से आगे निकल गए हैं। कपिल की कप्तानी में टीम इंडिया सितंबर 1985 से मार्च 1987 के बीच 17 टेस्ट मैच तक अजेय बनी रही। जबकि विराट कोहली की यह टीम 18 मैचों से अजेय है। इसके साथ ही टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 के पायदान पर भी बुलंदी के साथ काबिज है।

भारत के लिए यह सीरीज हर लिहाज से शानदार रही। करुण नायर और जयंत यादव जैसे खिलाड़ी इसी सीरीज की खोज हैं। कोहली, नायर और राहुल की शानदार बल्लेबाजी, आर अश्विन के लाजवाब 28 विकेट और जडेजा एवं यादव के ऑलराउंड खेल के लिए यह सीरीज लम्बे समय तक याद रखी जाएगी। वैसे इस सीरीज में टीम इंडिया का शायद ही कोई खिलाड़ी हो जिसने किसी-न-किसी पारी में यादगार योगदान न दिया हो।

बोल बिहार के लिए डॉ. ए. दीप

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here