मधेपुरा की ‘चेतना’ पर ‘निश्चय’ का स्पर्श

0
282
nitish-kumar
nitish-kumar

निश्चय यात्रा के क्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कल मधेपुरा पहुँचे। उन्होंने यहाँ कई योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया, अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की और स्थानीय बीएन मंडल स्टेडियम में ‘चेतना सभा’ को संबोधित किया। मधेपुरावासियों से अपने ‘विज़न’ को साझा करते हुए उन्होंने एक बार फिर विश्वास दिलाया कि उनके साहसिक और करिश्माई नेतृत्व में मधेपुरा समेत बिहार के सभी जिले विकास के पथ पर अबाध चलते रहेंगे।

गौरतलब है कि शुक्रवार से पूरे राज्य में युवा कौशल विकास कार्यक्रम की शुरुआत की गई। मधेपुरा में इसका शुभारंभ स्वयं मुख्यमंत्री ने किया। मधेपुरा बायपास रोड स्थित समिधा ग्रुप कम्प्यूटर संस्थान पहुंचकर उन्होंने कौशल विकास केन्द्र तथा प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसके उपरान्त बीएन मंडल स्टेडियम में आयोजित चेतना सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं के कौशल से बिहार का विकास होगा। युवाओं को प्रतिभा निखारने के लिए कम्प्यूटर की समुचित जानकारी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी मात्र 13 प्रतिशत छात्र ही उच्च शिक्षा ले पाते हैं। इसमें बढ़ोतरी के लिए सरकार प्रयासरत है। छात्रों को चार लाख रुपये का क्रेडिट कार्ड दिया जा रहा है। युवाओं को रोजगार खोजने के लिए प्रतिमाह एक हजार रुपये भी दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी कॉलेजों में वाई-फाई की सुविधा मिलेगी। हर जिले में इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक, आईटीआई व पारा मेडिकल कॉलेज तथा जीएनम व एएनएम स्कूल खोले जाएंगे।

सात निश्चय योजना की बाबत मुख्यमंत्री ने कहा कि इसकी सफलता से बिहार की 75 प्रतिशत समस्याएं खत्म हो जाएंगी। आने वाले चार वर्षों में हर घर में शौचालय होगा। हर घर नल का जल होगा। हर गांव की गली पक्की होगी और नालियों का निर्माण होगा। साथ ही हर घर में बिजली का कनेक्शन होगा। इसके लिए सर्वे अंतिम चरण में है और लोगों की सूची बनाई जा रही है।

शराबबंदी को मजबूत निर्णय बताते हुए नीतीश कुमार ने लोगों से समर्थन मांगा। उन्होंने कहा कि शराबबंदी से समाज का वातावरण बदल गया है। उन्होंने बड़े विश्वास के साथ कहा कि यदि पूरे देश में शराब बंद कर दी जाए तो भारत विकास में चीन को भी पीछे छोड़ देगा। आगे उन्होंने कहा कि 21 जनवरी को शराबबंदी के दूसरे चरण की शुरुआत विशाल मानव-श्रृंखला के साथ की जाएगी जिससे बिहार का संदेश पूरे विश्व में जाएगा।

अपनी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने मधेपुरा में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया तथा सुखासन गांव में सात निश्चय के तहत हो रहे विकास कार्यों का जायजा लिया। सुखासन जाने के क्रम में वे मधेपुरा के पूर्व सांसद स्वर्गीय आरपी यादव के तुनियाही स्थित समाधि स्थल भी गए। शाम में उन्होंने स्थानीय झल्लू बाबू सभागार में अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की।

शुक्रवार के अतिव्यस्त कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने मधेपुरा में ही रात्रि विश्राम किया और आज सुबह 9 बजे देवाधिदेव महादेव के दर्शन हेतु सुप्रसिद्ध सिंहेश्वर स्थान गए। विगत कुछ वर्षों से आयोजित हो रहे और इस इलाके के आकर्षण का केन्द्र बन चुके ‘सिंहेश्वर महोत्सव’ का श्रेय उन्हें ही जाता है।

मुख्यमंत्री की यात्रा के दौरान उनके साथ जिले के प्रभारी सह ऊर्जा मंत्री विजेन्द्र यादव, आपदा प्रबंधन मंत्री प्रो. चन्द्रशेखर, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री अब्दुल गफूर, विधान परिषद के उपसभापति हारून रसीद, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, डीजीपी पीके ठाकुर, डीएम मो. सोहैल आदि मौजूद रहे। अपने ‘निश्चय’ से मधेपुरा की ‘चेतना’ को छूकर मुख्यमंत्री निश्चय यात्रा के अगले पड़ाव सहरसा के लिए रवाना हो गए।

बोल बिहार के लिए डॉ. ए. दीप

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here