राय को बिहार, तिवारी को दिल्ली

0
80
manoj-tiwari-nityanand-rai
manoj-tiwari-nityanand-rai

भाजपा आलाकमान ने दो महत्वपूर्ण राज्यों – बिहार और दिल्ली – में पार्टी का ‘चेहरा’ बदल दिया है। पार्टी नेतृत्व ने इन दोनों राज्यों में बड़ा परिवर्तन करते हुए नित्यानंद राय को बिहार का और मनोज तिवारी को दिल्ली का अध्यक्ष मनोनीत किया है। नित्यानंद राय बिहार में मंगल पांडेय और मनोज तिवारी दिल्ली में सतीश उपाध्याय की जगह लेंगे।

पहले बिहार की बात। बिहार भाजपा में काफी समय से बदलाव के कयास लगाए जा रहे थे। युवा नित्यानंद राय को पार्टी की जिम्मेदारी सौंपकर नेतृत्व ने युवाओं को लुभाने की कोशिश की है। साथ ही उन्हें सामने लाकर लालू (और आगे चलकर तेजस्वी) के माय समीकरण की काट भी खोजी गई है। गौरतलब है कि नित्यानंद राय यादव समाज से आते हैं और उन्हें अघ्यक्ष बनाकर पार्टी ने यादव और पिछड़ा कार्ड एक साथ खेला है। बता दें कि राय वर्तमान में उजियारपुर से सांसद हैं और इससे पहले 2000, फरवरी 2005, अक्टूबर 2005 और 2010 में लगातार चार बार हाजीपुर से विधायक रह चुके हैं।

उधर दिल्ली की कमान मनोज तिवारी को देकर पार्टी में नई जान फूंकने की कोशिश की गई है। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की नॉर्थ-ईस्ट सीट से जीत के बाद मनोज तिवारी दिल्ली भाजपा का एक महत्वपूर्ण चेहरा बन गए थे। गौरतलब है कि दिल्ली की राजनीति में एक समय पंजाबी समुदाय का वर्चस्व माना जाता था, बाद में वैश्य समुदाय का वर्चस्व बढ़ा और मौजूदा समय में पूर्वांचलियों का बोलबाला है। ऐसे में पार्टी आलाकमान को एक ऐसे चेहरे की तलाश थी जो पूर्वांचली वोटरों को लुभा सके। कहने की जरूरत नहीं कि मनोज तिवारी पूर्वांचलियों में खासे लोकप्रिय हैं और यही बात उनके चयन के पक्ष में गई। यहाँ यह रेखांकित करना भी जरूरी है कि तिवारी बिहार के कैमूर जिले के अतरवलिया गांव से आते हैं और उन्हें सामने लाकर पार्टी ने दिल्ली में बिहारियों की ‘अपरिहार्यता’ को भी स्वीकार किया है।

बता दें कि भाजपा संविधान के मुताबिक हर तीन साल में पार्टी के अध्यक्ष बदले जाते हैं। पिछले साल दिल्ली और बिहार को छोड़कर सभी राज्यों के अध्यक्ष बदल दिए गए थे। अब दिल्ली और बिहार में भी इसी के तहत बदलाव हुए हैं।

बोल बिहार के लिए डॉ. ए. दीप

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here