भगवान का शुक्र है कि मैं सिंगल हूँ

0
325
tejaswi-yadav
tejaswi-yadav

बिहार के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों – लालू प्रसाद यादव एवं राबड़ी देवी – के उपमुख्यमंत्री बेटे तेजस्वी यादव इन दिनों परेशान हैं। आप कुछ और सोचें उससे पहले ही बता दें कि उनकी परेशानी के मूल में कोई विपक्षी दल या नेता नहीं, पार्टी और सरकार भी मजे में चल रही है। फिर भी यकीन मानें लालू के 26 वर्षीय छोटे लाडले बेहद परेशान हैं। चलिए, पहलियां बुझाने की बजाय आपको वजह बताते हैं। दरअसल इस पूर्व क्रिकेटर की परेशानी यह है कि इन दिनों वे ‘लव यू’ के बाउंसर झेल रहे हैं। जी हाँ, उन्हें व्हाट्सएप पर पिछले कुछ महीनों में शादी के 44000 प्रस्ताव मिल चुके हैं और मजे की बात यह कि जो व्हाट्सएप नंबर इन प्रस्तावों का गवाह बना है वो उनका पर्सनल नंबर नहीं, उनके विभाग का नंबर है।

दरअसल, उपमुख्यमंत्री सह पथ निर्माण मंत्री तेजस्वी ने यह नंबर खराब सड़कों की जानकारी देने के लिए जारी किया था। उन्होंने लोगों से कहा था कि अगर कोई सड़क बदहाल दिखे तो उसकी तस्वीर और सड़क कहाँ है इसकी जानकारी भेजें। लेकिन इस व्हाट्सएप का हाल यह है कि इस पर अब तक आए 47000 मैसेज में से लगभग 44000 मैसेज में उनसे शादी का प्रस्ताव रखा गया है। सिर्फ 3000 मैसेज ऐसे हैं जिनमें सड़कों का मरम्मत कराने की बात कही गई है।

विभाग के अधिकारी बताते हैं कि ज्यादातर लड़कियों ने व्हाट्सएप पर अपनी पर्सनल जानकारी शेयर की है जिसमें फिगर से लेकर त्वचा का रंग और लंबाई भी शामिल है। हालांकि सावधानी बरतते हुए यह भी कहा कि शायद लड़कियों को लगा हो कि यह तेजस्वी का पर्सनल नंबर है। वहीं तेजस्वी ने इस ‘अभूतपूर्व’ समस्या पर कहा कि अगर वह शादीशुदा होते तो ऐसे पर्सनल मैसेज से मुश्किल में पड़ जाते। उन्होंने कहा – “भगवान का शुक्र है कि मैं सिंगल हूँ।”

इस बाबत आगे कोई सवाल न हो, यह भांपकर तेजस्वी ने पहले ही कह दिया कि वे अरेंज्ड मैरेज करना पसंद करेंगे। यह सुन पता नहीं वे 44000 लड़कियों क्या करेंगी जो व्हाट्सएप पर अपना ‘भविष्य’ तलाशने में जुटी हैं। शायद उनमें से कई अपने ‘लव’ (अगर सचमुच हो तब भी, ना हो तब भी) को ‘अरेंज्ड’ करने की जुगत में लग भी गई हों!

बोल बिहार के लिए डॉ. ए. दीप

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here