Daily Archives: June 27, 2016

RD Burman

पंचम सुरों को साधने वाले ‘पंचम दा’

राग जिसकी रगों में लहू बन कर दौड़ता था, संगीत जिसके प्राण थे और धुन जिसकी सांसें हुआ करती थीं उस ‘पंचम दा’ की...